Showing posts with the label मारवाड़ी मसालाShow all

मेरे प्रभु मेरी सुन लो बहुत दिन हो गए आप के दर्शन करे!

श्रीनाथजी जी सब ठीक करो ... मुझको श्रीनाथजी आना है ... करनी है दो बातें तुमसे ... फिर से दर्शन पाना है ... श्रीनाथजी जी सब ठीक करो ... मुझको श्रीनाथजी आना है ... जो हालात हुए हैं जग के ... ये ना किसी ने सोचा होगा… Read more

कहने वाले कहते रहे, निकम्मे हैं सरकारी !

कहने वाले कहते रहे , निकम्मे हैं सरकारी ! आज इस विकट दौर में , काम आए सरकारी ! कोई न आते पास मरीज के , दवा पिलाते सरकारी । कोई न इनके हाथ लगाते , मल मूत्र उठाते सरकारी ! कोई न इनको रोक पाते , पत्थर खाते सरकार… Read more

दो बिस्कुट और एक शिक्षक

सुन गाँव के ऊंचे अधिकारी , तूने काम किया विस्मयकारी। शिक्षक ने दो बिस्कुट खाये , तूने उसकी रपट लिखा डारी।। उसका पेट नही था बड़ा , दो बिस्कुट भी ना समाये। पर सीमेंट , पत्थर बजरी , बताओ आपने कैसे पचाये।। ऐसी अदभुत पाचन शक्ति ,  कैसे तुमने पा… Read more