Showing posts with the label देवनारायण कथाShow all

बगडावत कथा -32

बगडावत कथा -32 भाटजी कमर में तीतर बांधकर सावर गढ़ में घुसते हैं और परकोटे के दरवाजे पर आकर चौकीदार से कहते हैं कि मैं अजमेर से आया हूं राजाजी का भाट हूं। द्वारपाल भाटजी को लेकर दियाजी के पास जाता हैं। चौकीदार जाकर दरबार में जहां दियाजी का दरबार लगा हुआ है , … Read more

श्री देवनारायण भगवान जप मंत्र

श्री देवनारायण भगवान जप मंत्र ॐ नमों देवनारायणाय   , सर्व मनोरथ पूर्णाय । अनन्त दुख भंजनाय   , भोज नन्दाय नमो नमः । नमो देवनारायणं   , सर्वत्र सदा सहायकम् , भक्तानामभय भंजनम् , भोग मोक्ष फलदायकम् ॥ ॐ नमो देवनारायण नमो नमः भक्त इस मंत्र का जा… Read more

आरती श्री देवनारायण भगवान

आरती श्री देवनारायण भगवान  आरती श्री देवनारायण भगवान की आरती करू देव धणी राया ,   मेंहदु भूणा मदन सिंह और कान भइंग के भाया   |  टेर ॥ मालासेरी मथुरा बन गई देव जन्म तहां पाया । नन्दमहर के कृष्णचन्द्र जी मालासेरी मे देव कहाया , सुखा डुंगर हरिया होया मोर मल्… Read more

श्री देवनारायण भगवान चालीसा

श्री श्री 1008 भगवान देवनारायण चालीसा  :  : प्रारम्भः :   दोहा   ॐ नमो गणपति गुरू , नमो सरस्वती माया   देव सुयशवर्णन करूँ , कण्ठ विराजोआय ॥  - चौपाई -   नमो देव नारायण स्वामी ।घट घट के प्रभु अन्तर्यामी ॥ जगत उजागर सब गुण । सागर देवनारायण नटवर नागर ॥   … Read more

बगडावत कथा -31

बगडावत कथा - 31 शेर देवनारायण व छोछू भाट के सामने आकर खड़ा हो जाता है। भाट डर केमारे उछल कर ऊपर एक पलाश के पेड़ पर चढ़ जाता है। देवनारायण शेर से कहते हैं कि भाई तुमने हमारा रास्ता क्यो रोका   , हमें जाने दो। शेर कहता है कि मैं तुम्हें खाउंगा अगर बचना चाहता हैं तो प… Read more

बगडावत कथा -30

बगडावत कथा - 30 भैंसासुर दानव जाकर देवनारायण को ललकारता है। देवनारायण अपनी तलवार से भैंसा सुर का वध कर देते हैं। लेकिन भैंसा सुर दानव के रक्त की बूंदे जमीन पर गिरते ही और कई दानव पैदा हो जाते हैं। यह देख देवनारायण अपने बायें पांव को झटकते हैं ,  उसमें… Read more

बगडावत कथा -29

बगडावत कथा - 29 तलावत खां ने राणाजी को कैद कर अपने साथ ले जाते समय रास्ते में शोभादे को ,  जो पुरोहित की लड़की होती है ,  उसको भी पकड़ लिया। खरनार के बादशाह को रावजी ने कहा तू शोभादे को छोड़ दे। बादशाह ने कहा कि मैं शोभादे को एक शर्त पर छोड़ दूंगा ,  तुम… Read more