आत्म मंथन

आत्म मंथन ही जीवन का सार है!

छोटा सा जीवन है, लगभग 80 वर्ष। उसमें से आधा =40 वर्ष तो रात को बीत जाता है। उसका आधा=20 वर्ष बचपन और बुढ़ापे मे बीत जाता है।…

Load More
That is All