पासवर्ड याद रखने की टेंशन खत्म: उपाय आपके फोन में ही है...

सोशल मीडिया के दौर में हम सभी के कई सारे अकाउंट होते हैं तो मजबूत और लंबे पासवर्ड बनाना और फिर उनको याद रखना सर दर्द है. ऐसे में ये ऐप्स आपकी मदद कर सकते हैं.
साइबर सुरक्षा से लेकर मजबूत पासवर्ड रखने की बहुत बात होती है लेकिन हकीकत सभी को पता है. आज भी 12345, लव यू सोना और पासवर्ड के लिए पासवर्ड साल-दर-साल लिस्ट में टॉप पर रहते हैं. ऐसे में ज़रूरत है मजबूत पासवर्ड की. इसे कैसे बनाया जाए? इस बारे में बहुत सारी जानकारी पहले से उपलब्ध है. लेकिन दिक्कत तब होती है जब हमें ढेर सारे मुश्किल पासवर्ड को याद रखना होता है.

इसलिए हमने आज की इस पोस्ट मे  कुछ ऐप्स आपके लिए तलाशे हैं जो दो काम करेंगे. पहला एक मजबूत पासवर्ड बनाने में आपकी मदद करेंगे और दूसरा उनको याद रखने की टेंशन से छुटकारा मिल जाएगा.
पासवर्ड नियम
पासवर्ड मजबूत बनाने का बुनियादी नियम आज भी वही है. लंबा पासवर्ड बनाइये. नंबर्स और लेटर्स के संयोजन वाला. आपसे जुड़े शब्दों (परिवार) का इस्तेमाल मत कीजिए. डिक्शनरी से शब्द उठाकर पासवर्ड में मत डालिए और अल्फान्यूमेरिक शब्द जैस जैसे एट (@), हैश (#) अपने पासवर्ड में जरूर इस्तेमाल कीजिए.


Google Password Manager

गूगल पासवर्ड मैनेजर मुफ़्त सेवा है वो भी कंप्यूटर और मोबाइल दोनों के लिए. यूज करने का तरीका हम आपको बताते हैं.
1. एंड्रॉयड स्मार्टफोन में सेटिंग ऐप खोलिए.
2. सर्च बार में ऑटो फिल (Autofill) टाइप कीजिए.
3. “ऑटो फिल” सर्विस में सेटिंग पर क्लिक कीजिए.
4. ऑटो फिल विथ गूगल को इनेबल कर दीजिए.

ऐसा करते है गूगल पासवर्ड मैनेजर चालू हो जाएगा.

1. अब कोई सा भी ऐप या वेबसाइट ओपन कीजिए.
2. यूजर नेम या ईमेल डालने के बाद पासवर्ड वाले सेक्शन में आ जाइए.
3. यहां पर आपको चाबी वाला आइकन दिखेगा.
4. नीचे Suggest Strong Password और मैनेज पासवर्ड के ऑप्शन दिख जाएंगे.
5. यदि आप पहली बार ऐप पर लॉगइन कर रहे होंगे तो Suggest Strong Password इस्तेमाल कर सकते हैं. आप खुद का बनाया पासवर्ड भी डाल सकते हैं.
6. अब साइन इन करते ही पासवर्ड को सेव करने का पॉप अप आएगा. OK करते ही पासवर्ड “गूगल पासवर्ड मैनेजर” में सेव हो जाएगा.
7. अगली बार आप जब भी ऐप या वेबसाइट ओपन करेंगे तो पासवर्ड वाले सेक्शन में चाबी पर टैप करते ही अपने आप पासवर्ड फिल हो जाएगा.

Google Password Manager इस्तेमाल करने के दो फायदे हैं. यदि आप पहली बार ऐप इस्तेमाल कर रहे हैं तो ये एक मजबूत पासवर्ड का सुझाव देता है और उसको याद भी रखता है. दूसरा यदि पासवर्ड आपने खुद बनाया था तो वो सच में कितना मजबूत है उसकी जानकारी भी देता है.

1. अपने पासवर्ड की मजबूती देखने के लिए “गूगल पासवर्ड मैनेजर” में जाइए.
2. यहां पर आपके सेव किए सभी यूजर नेम और पासवर्ड दिख जाएंगे.
3. अब Google के हिसाब से जो भी पासवर्ड कमजोर, रीयूज़्ड और आसानी से क्रैक होने वाले होंगे वो अलग दिख जाएंगे.
4. संबंधित ऐप को ओपन किए बिना आप यहीं से पासवर्ड बदल सकते हैं .

एंड्रॉयड मोबाइल मेकर्स भी अपने फोन में ऐसी सर्विस मुहैया कराते हैं लेकिन उनका इस्तेमाल करना या नहीं करना आपके विवेक पर निर्भर होगा.

एक बात का ध्यान रखिए कि पासवर्ड मैनेजर में आपके सभी यूजर नेम और पासवर्ड सेव होंगे तो इसका इस्तेमाल ऐसे किसी भी मोबाइल या कंप्यूटर पर मत इस्तेमाल कीजिए जिसका एक्सेस आपके अलावा किसी और के पास हो.ऐसा करते है गूगल पासवर्ड मैनेजर चालू हो जाएगा.

1. अब कोई सा भी ऐप या वेबसाइट ओपन कीजिए.
2. यूजर नेम या ईमेल डालने के बाद पासवर्ड वाले सेक्शन में आ जाइए.
3. यहां पर आपको चाबी वाला आइकन दिखेगा.
4. नीचे Suggest Strong Password और मैनेज पासवर्ड के ऑप्शन दिख जाएंगे.
5. यदि आप पहली बार ऐप पर लॉगइन कर रहे होंगे तो Suggest Strong Password इस्तेमाल कर सकते हैं. आप खुद का बनाया पासवर्ड भी डाल सकते हैं.
6. अब साइन इन करते ही पासवर्ड को सेव करने का पॉप अप आएगा. OK करते ही पासवर्ड “गूगल पासवर्ड मैनेजर” में सेव हो जाएगा.
7. अगली बार आप जब भी ऐप या वेबसाइट ओपन करेंगे तो पासवर्ड वाले सेक्शन में चाबी पर टैप करते ही अपने आप पासवर्ड फिल हो जाएगा.

Google Password Manager  फायदे : यदि आप पहली बार ऐप इस्तेमाल कर रहे हैं तो ये एक मजबूत पासवर्ड का सुझाव देता है और उसको याद भी रखता है. दूसरा यदि पासवर्ड आपने खुद बनाया था तो वो सच में कितना मजबूत है उसकी जानकारी भी देता है.

1. अपने पासवर्ड की मजबूती देखने के लिए “गूगल पासवर्ड मैनेजर” में जाइए.
2. यहां पर आपके सेव किए सभी यूजर नेम और पासवर्ड दिख जाएंगे.
3. अब Google के हिसाब से जो भी पासवर्ड कमजोर, रीयूज़्ड और आसानी से क्रैक होने वाले होंगे वो अलग दिख जाएंगे.
4. संबंधित ऐप को ओपन किए बिना आप यहीं से पासवर्ड बदल सकते हैं .

एंड्रॉयड मोबाइल मेकर्स भी अपने फोन में ऐसी सर्विस मुहैया कराते हैं लेकिन उनका इस्तेमाल करना या नहीं करना आपके विवेक पर निर्भर होगा.

नोट:एक बात का ध्यान रखिए कि पासवर्ड मैनेजर में आपके सभी यूजर नेम और पासवर्ड सेव होंगे तो इसका इस्तेमाल ऐसे किसी भी मोबाइल या कंप्यूटर पर मत इस्तेमाल कीजिए जिसका एक्सेस आपके अलावा किसी और के पास हो.

NordPass

साइबर सिक्योरिटी की बात करने पर इनका नाम दिख जाएगा ऐसे में इनका ऐप भी इस्तेमाल किया जा सकता है. क्रॉस प्लेटफ़ॉर्म पर चलने वाला पासवर्ड मैनेजर है. पासवर्ड से जुड़े सभी काम जैसे कि ऑटोफिल हो या सेफ़्टी के साथ पासवर्ड शेयर करना इस ऐप में होता है. आपका डेटा यदि लीक हुआ है तो ये ऐप उसको भी चेक करेगा. बायोमैट्रिक और मल्टी फैक्टर ऑथेंटिकेशन के फीचर भी इस ऐप में मिल जाएंगे.

Zoho Vault

उम्मीद है कि ये नाम आपने सुन रखा होगा. जोहो का पासवर्ड मैनेजर ऐप भी बहुत से फीचर्स के साथ आता है. बेसिक फीचर के साथ आप इस ऐप को ऑफ़लाइन भी इस्तेमाल कर सकते हैं. एक्टिव नहीं हैं तो इन एक्टिविटी टाइमर और एक सीजन के लिए भी टाइमर लगाया जा सकता है. क्रॉस प्लेटफ़ॉर्म और बायोमैट्रिक लॉगइन तो मिलता ही है.

iCloud Keychain

एंड्रॉयड यूजर्स के लिए “गूगल पासवर्ड मैनेजर” है तो ऐप्पल यूजर्स के लिए है आई क्लाउड कीचैन. एक्टिव करने के लिए सेटिंग्स में जाकर अपने नाम या प्रोफाइल फोटो पर क्लिक कीजिए. फिर आई क्लाउड पर टैप कीजिए. तीसरे ऑप्शन कीचैन (KeyChain) को ऑन कीजिए. ऑन होने के बाद सेटिंग्स स्क्रीन पर आपको पासवर्ड्स टैब दिखने लगेगी.

Dropbox जैसे ऐप भी पासवर्ड मैनेजर सर्विस मुहैया कराते हैं. साथ में पासवर्ड मैनेजमेंट के लिए और भी बहुत सारे भरोसे वाले ऐप मार्केट में उपलब्ध हैं. लेकिन इन सभी के सारे फीचर्स इस्तेमाल करने के लिए आपको पेड वर्जन लेना पड़ेगा. ऐसे में एक आम यूजर के लिए गूगल पासवर्ड मैनेजर और iCloud Keychain ही काफी हैं. हालांकि आप अपनी जरूरत के मुताबिक दूसरे भी ऐप इस्तेमाल कर सकते हैं.

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें !

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…


Post a Comment

ऑनलाइन गुरुजी ब्लॉग में आपका स्वागत है
ऑनलाइन गुरुजी,ब्लॉग में आप शैक्षिक सामग्री, पाठ्यपुस्तकों के समाधान के साथ पाठ्यपुस्तकों की पीडीएफ भी डाउनलोड कर सकते हैं। प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए शैक्षिक सामग्री भी यहाँ उपलब्ध कराई जा रही है। यह वेबसाइट अभी प्रगति पर है। भविष्य में और सामग्री जोड़ी जाएगी। कृपया वेबसाइट को नियमित रूप से देखते रहें!

Previous Post Next Post