एक संत संसार में आया

गुरू नानक नाम कहाया।

 

 "तेरा भाणा मीठा लागे" भाया

"मिट्टी धुँध जग चानन होया"

 सर्व- धर्म समन्वय संदेश सुनाया।

 

साहित्य साधना से अमृत बरसाया।

 तेरा ही तेरा परोपकारी स्वभाव पाया।

 

 आशीर्वाद से अपने सर्व जगत को धन्य बनाया।। 

 

धन श्री गुरु नानक देव जी

 

गुरु नानक देव जी की जयंती के शुभ अवसर पर, मैं सभी देशवासियों, विशेष रूप से सिख समुदाय के भाइयों-बहनों को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं। आइए, हम सब गुरु नानक देव जी के बताए नाम जपो, किरत करो, वंड छकोके मार्ग पर चलें और अपने आचरण में उनकी शिक्षाओं का पालन करें।

आप सभी को गुरू पर्व की अनंत- अनंत हार्दिक शुभकामनाएं