क्षमा माफी
       राहो मे भी राज होते है ,फुलो के भी मिजाज होते है।
गलतियां हमारी माफ करना क्योंकि चमकते हुए चाँद मे भी तो दाग होते है।।
      
सड़क कितनी भी साफ हो भूल तो हो ही जाती है।
   आदमी कितना भी सभ्य हो, भूल तो हो ही जाती है।।
हो सकता है हमने आपको कभी रुला दिया,
आपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दिया,
हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में,
क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया।
हमसे कोई खता हो जाये तो माफ़ करना,
हम याद न कर पाएं तो माफ़ करना,
दिल से तो हम आपको कभी भूलते नहीं,
पर ये दिल ही रुक जाये तो माफ़ करना।
कमजोर व्‍यक्ति कभी क्षमा नहीं कर सकता,
क्षमा करना शक्तिशाली व्‍यक्ति का गुण है
महात्‍मा गॉंधी
माफ़ी मांगने के लिए
व्यक्ति को मजबूत होना पड़ता है
और एक मजबूत व्यक्ति ही माफ़ कर सकता है।


गुर्जर इतिहास व मारवाड़ी कविता/हिंदी सायरी व भाषण के लिए ब्लॉग  पढे  :-https://gurjarithas.blogspot.com