'कौन बनेगा करोड़पति' क्विज़ शो में अमिताभ बच्चन ने भारत की मशहूर फ़िल्म अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा से यह सवाल पूछा, 'रामायण के अनुसार हनुमान किसके लिए संजीवनी बूटी लाए थे?' जवाब में चार विकल्प थे: सुग्रीव, लक्ष्मण, सीता और राम। पहले सोनाक्षी सिन्हा ने कहा सीता, फिर कहा राम, जबकि असल जवाब था लक्ष्मण।
इसके बाद तो सोशल मीडिया पर सोनाक्षी सिन्हा की हँसी उड़ाने वाले मैसेजों का तांता लग गया। सबकी राय थी कि सोनाक्षी सिन्हा को इस बात पर शर्म आनी चाहिए कि उन्हें इतना नहीं मालूम! ख़ास तौर पर तब, जब उनके घर का नाम रामायण था, शत्रुघ्न उनके पिता का नाम था, लव और कुश उनके भाई का नाम था, जबकि राम, लक्ष्मण और भरत उनके ताऊ थे।
बहरहाल, सोशल मीडिया पर एक ऐसा मैसेज भी आया, जो सच्चाई को उजागर करता है। इसमें सोनाक्षी सिन्हा के पिता शत्रुघ्न सिन्हा ने यह सवाल पूछा था, बच्चों को मुगलों का इतिहास पढ़ाते हो और फिर उनसे रामायण के सवाल पूछते हो, यह तो अन्याय है!
सोनाक्षी सिन्हा अकेली नहीं हैं; वे तो भारत की उस युवा पीढ़ी का प्रतीक हैं, जो विदेशी संस्कृति की चकाचौंध में अपनी खुद की संस्कृति को भूल चुकी हैं। इस प्रसंग से मेरे मन में यह ब्लॉग लिखने की प्रेरणा आई... एक ऐसा ब्लॉग जो रामचरित मानस की कहानियाँ रोचक भाषा में और संक्षेप में बताए। आज की इंस्टैंट पीढ़ी धर्म से भी कतराती है और मोटी पुस्तकों से भी... इसलिए मेरी कोशिश गागर में सागर भरने की रही है। इस ब्लॉग को एक तरह से रामचरित मानस का सार मान लें, जो संक्षेप में सारी महत्वपूर्ण जानकारी देती है। यह ब्लॉग पढ़ें, जो आपको एक घंटे में रामचरित मानस का सार बता देगी और वह सारी महत्वपूर्ण जानकारी दे देगी, जो कौन बनेगा करोड़पति के सवाल का जवाब देने के लिए चाहिए!
गुर्जर इतिहास/मारवाड़ी मसाला/रामचरितमानस सार, के लिए ब्लॉग  पढे  :-https://gurjarithas.blogspot.com